तकदीर मे जो लिखा है उसकी फर्याद न कर…

Share

“गुजरी हुई जिंदगी को
कभी याद न कर,

तकदीर मे जो लिखा है
उसकी फर्याद न कर…

जो होगा वो होकर रहेगा,

तु कल की फिकर मे
अपनी आज की हसी
बर्बाद न कर…

🍥🌺🌹. Good Morning 🌹🌺🍥

Share

” गीता ” मे लिखा है – निराश मत होना

Share

🌺” गीता ” 🌺मे लिखा है 🍃
🍃🌷निराश मत होना ,
🌷🍃कमजोर तेरा वक्त है ,
🌷🍃” तु ” नहि । 🍃🍃🍃
‘ज़िन्दगी’ में कभी किसी ‘बुरे दिन’ से
सामना हो जाये तो…..🌷🍃🍃
इतना ‘हौसला’ जरूर रखना –
‘दिन’ बुरा था….. ‘ज़िन्दगी’ नहीं…..

🙏🌺🍃 सुप्रभात 🍃🌺🙏
🙏🏼🌺 जय भोले🌺🙏🏼
🍃😊 आपका दिन आनंदमय हो 🍃

Share

दूसरों को नसीहत देना तथा आलोचना करना सबसे आसान काम है…

Share

⚡⚡🌩⛈🌧🌦☁⚡⚡
🌇शुभ प्रभात🌇
🌱🍀🌸🌱🍀🌸🌱🍀🌸
कर्मों की आवाज़
शब्दों से भी ऊँची होती है…!
“दूसरों को नसीहत देना
तथा आलोचना करना
सबसे आसान काम है।
सबसे मुश्किल काम है
चुप रहना और
आलोचना सुनना…!!”
यह आवश्यक नहीं कि
हर लड़ाई जीती ही जाए।
आवश्यक तो यह है कि
हर हार से कुछ सीखा जाए

🎀मंगलमय सुबह🎀
🍂सुप्रभात🍃
🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏

Share

स्वयं को माचिस की तीली न बनाएँ

Share

“स्वयं को माचिस की तीली न बनाएँ,
जो थोड़ा सा घर्षण लगते ही सुलग उठे,
स्वयं को वह शांत सरोवर बनाए, जिसमें कोई अंगारा भी फैंके तो,
…वह खुद ही बुझ जाए…।।”

ख़ुश रहें… स्वस्थ रहें… मस्त रहें…
🌞🌝 नमस्कार सुप्रभात 🌞🌝

Goodwala Morningji

🌺🍀🍀🍀🍀🍀🍀🍀🍀🍀🌺🌺

Share

अपनी जिंदगी के किसी भी दिन को मत कोसना

Share

🌞💐🌹 हरि ॐ 🌹💐🌞

चींटी से मेहनत सीखिए
बगुले से तरकीब
और
मकड़ी से कारीगरी।

अपने विकास के लिए अंतिम समय
तक संघर्ष कीजिए।
संघर्ष ही जीवन है।

“अपनी जिंदगी के
किसी भी दिन को मत कोसना”.
“क्योंकि;”
“अच्छा दिन खुशियाँ लाता है”
“और बुरा दिन अनुभव;.”.
“एक सफल जिंदगी के लिए
दोनों जरूरी होती है” ♈

🌹🌷 शुप्रभात 🌷🌹

Share

मुस्कुराना सीखिये …..

Share

🍂🍃🍂🍃🍂🍃🍂🍃🍂
.🍃 मदद करना सीखिये
.🍂 फायदे के बगैर.

.🍃 मिलना जुलना सीखिये
.🍂 मतलब के बगैर.

.🍃 जिन्दगी जीना सीखिये
.🍂 दिखावे के बगैर.

.🍃 मुस्कुराना सीखिये
.🍂 सेल्फी के बगैर.

. और

.🍃 प्रभु पर विश्वास रखिये
.🍂 किसी शंका के बगैर

.🍃 🙏🏻 सुप्रभातम् 🙏

Share

Nobody is a friend or an enemy of other persons

Share

न कश्चित् कस्यचिन्मित्रं न कश्चित् कस्यचित् रिपुः।
अर्थतस्तु निबध्यन्ते मित्राणि रिपवस्तथा।।

न तो कोई किसी का मित्र होता है और न कोई शत्रु होता है। धन संपत्ति और व्यक्तिगत हित ही वे कारण होते हैं जो व्यक्तियों के बीच में मित्रता और शत्रुता स्थापित करते हैं।

Nobody is a friend or an enemy of other person/s. It is the wealth and motive to further one’s interests, which acts as a binding force between persons turning them into friends or enemies.

शुभ दिन हो।

🌸🌹💐 🙏🏼

Share